The Psychology Of Money Book Summary in Hindi

The Psychology Of Money Book Summary in Hindi
The Psychology Of Money Book Summary in Hindi

The Psychology Of Money Book Summary: दोस्तों इस Article ( The Psychology Of Money Book Summary in Hindi )के जरिए मै आपको इस किताब की पूरी जानकारी देने का प्रयास कर रहा हूँ ये आपके लिए काफी फायदेमंद होगा. आईये आगे पढ़ते हैं. दोस्तों क्या जानते हो? यूएसए में लोअर क्लास के लोग हर साल $400 यानी इंडियन करेंसी के हिसाब से ₹30000 की लॉटरी टिकट में खर्चा करते हैं. साल की कोई भी टाइम इनके पास कोई भी सेविंग नहीं होती. यहाँ तक कि उनमें से आधे लोगों के पास इमरजेंसी के लिए $400 भी बचे नहीं होते. अब आप कहोगे कि वह लोग लॉटरी टिकट में खर्चा करने की जगह उन पैसों को सेफ क्यों नहीं कर लेते. लेकिन उनके हिसाब से उनकी लाइफ और उनकी फाइनेंसियल कंडीशन मतलब उनकी किस्मतसिर्फ और सिर्फ लॉटरी ही बदल सकती है. उनको लगता है कि वह हार्डवर्क करके कभी अमीर नहीं बन सकते उनको ऐसा लगता है कि अमीर बनना मतलब लकी होना. तो बेसिकली लॉटरी टिकट ही उनको उम्मीद और सपने दिखाती है.

अब तो आप में से बहुत लोग कहोगे कि कितने फालतू सोच है क्योंकि हमें पता है लॉटरी जीतने के चांसेस कितने कम होते हैं और वो भी अपनी लाइफ को पूरी तरह लॉटरी टिकट पर छोड़ देना. कितनी बेवकूफी है. मतलब करोड़ो मैं से एक आदमी को सफलता मिलेगी और बाकि सारे लोग वैसे ही गरीबी में जिएंगे. लेकिन अगर आप उन लोगों को समझाने जाओ तो उल्टा आपको बेवकूफ समझेंगे और शायद वो लोग आपको गलत बोल कर रिटर्न में आपको बुरा फील करा देंगे. जबकि आप तो उनकी मदद करने के लिए बोल रहे थे.

The Psychology Of Money Book Summary: इसीलिए यह बुक से हमें कुछ ऐसे इंपॉर्टेंट Lesson सीखने मिलता हैं कि हम इंसान लॉजिकल नहीं है. हम साइकोलॉजिकल है. दोस्तों सबको यही लगता है कि आज की तारीख में वो अपनी लाइफ के लिए एकदम परफेक्ट फैसला ले रहे हैं. लेकिन फिर भी जब कुछ साल गुजर जाते हैं और जब लोग पीछे पलटकर देखते हैं तो वे ये ही ही सोचते कि काश उन्होंने कुछ ऐसा कर लिया होता तो उनकी लाइफ कुछ और होती.  फिर भी जब बात पैसों के डिसीजन की आती है तो चाहे वह अमेरिका के लोग हो या दुनिया में कोई भी इंसान, लोग ज्यादातर फैसले जज्बात में आकर लेते हैं. और फिर लॉजिकली उसे सही साबित करते हैं की ये फैसला बिलकुल सही है. इसकी वजह यह होती है की  कुछ सीख हमे बाद में मिलती है. जो हमे पहले सीख लेनी चाहिए थी. इसीलिए दोस्तों आज मैं कुछ ऐसे जरूरी लेसन इस किताब से शेयर करने वाला हूं जो हमारी साइकोलॉजी और माइंडसेट से रिलेटेड है. जिसकी वजह से हम जाने-अनजाने में गलत फैसला लेते हैं. जिसको जानकर आप जल्दी फाइनेंसियल फ्री हो सकते हो. 

Lesson 1: True Wealth is what you don’t see

The Psychology Of Money Book Summary: दोस्तों, एक तरफ बड़ा घर, कार. महंगा मोबाइल ये सब दिख रही होती है. लेकिन इन फोटोस के दूसरी तरफ इन सब का का लोन का ऑफिस की परेशानी और उसकी वजह से उसके घर के रोज के फाइट हमे नहीं दिखते हैं. तो जो हमे दीखता है वो अक्सर पूरा पिक्चर नहीं होता है. जाने अनजाने में यह चीजें हमे गलत तरीके से सोचने पर मजबूर करती है. हम जब भी किसी अमीर आदमी  देखते हैं उसके पास कोई लग्जरी कार हो या वो कहीं छुट्टी पर गया हो, तो हम भी यही सोचते मेरे पास भी ऐसी कार होती, काश मैं भी कहीं बाहर घूमने जाता. अब हम यह नहीं सोचते कि वाकई में उनकी लाइफ मस्त है या नहीं। हम बस  उनके लाइफ से उनकी खूबसूरत दिखने वाली चीज़ ही चीज़  ढूंढते हैं. वो ये नहीं सोचते की जो सोच कर उसने कार ली थी की लोग उसकी इज्जत करेंगे। लेकिन लोग उसकी नहीं बल्कि उसकी कार की इज्जत कर रहे हैं. क्योंकि जब भी हमारे सामने से कोई कार गुजरती है तो हमेशा यही कहते कार है वाह क्या कार है. हम कभी ऐसा नहीं कहते कि वाह क्या आदमी है. इसी वजह से लोगों के दिमाग यह बात में बैठ गया है कि अमीर मतलब आपके पास दिखाने के लिए कुछ होना चाहिए। Fact में अमीरी वह होती  है जिससे हम आजादी की जिंदगी जी सकें।  सबसे बड़ी और सबसे इंपोर्टेंट चीज जिसे हम पैसे से खरीद सकते तो वह हमारा खुद का टाइम। अगर आपके पास दुनिया की सारी दौलत है लेकिन उसको एंजॉय करने का टाइम नहीं क्योंकि अब आप पूरा टाइम ऑफिस में बिजी रहते हो जिस काम को आप पसंद भी नहीं करते तो आपके इतने अमीर होने का फायदा क्या?  

इसीलिए इस किताब के Author हमें यह कहते हैं दूसरों को दिखाने के लिए खर्चा करना मतलब गरीब होने का सबसे सिंपल और आसान तरीका है और अमीर रहने का सबसे मुश्किल। तो अगर आप किसी आदमी के पास कोई अच्छी कार देखते हो जैसे मान लो 5000000 रुपए की है उसे यह नहीं पता लगा सकते कि वह आदमी वाकई में अमीर है  भी है या नहीं। लेकिन उससे हम यह चीज जरूर पता चलती है कि उसके धन में से धर्म से ₹5000000 कम हो गए हैं.

Lesson 2: You Pay a price for everything

मान लो एक Car खरीदनी है और उसका प्राइस है 1200000 रुपए 12 लाख रुपया। तो आपके पास अभी 3 Options हैं.  First  1200000 रुपए pay कर कार खरीद लें, 2nd  दूसरा अगर आपको इतना खर्चा नहीं करना तो आप कोई सस्ती Car खरीद लो, 3rd किसी दूसरे आदमी की कार चुरा लो. अब 99%  लोग Car नहीं चुरायेंगे क्योंकि उन्हें पता है कि फिलहाल तो Car मिल जाएगी लेकिन उसके बदले में जो प्रॉब्लम होगी ज्यादा हो सकती है. तो उसके बेनिफिट जो हमे दिख रहे हैं वो उसके नुकसान से काफी छोटे हैं. लेकिन अगर कोई आदमी गाड़ी चुराता है तो हम उसको यही कहेंगे कि उसने गलत फैसला लिया फिर चाहे उसको कोई सजा मिले या नहीं मिले। हमें ऐसी चीजें दिख रही है जो उस आदमी को नहीं दिख रही है. इसीलिए हम 99% लोग गाड़ी को चुराना नहीं पसंद करेंगे। फिर भले हम कोई सस्ती है सेकंड हैंड Car ढूंढ लेंगे क्योंकि हमें पता है Nothing is for free.

 The Psychology Of Money Book Summary: उसी तरह जब आपको अमीर बनना है और इन्वेस्टिंग से अपने पैसों को ग्रो करना है तो आपके पास दो ऑप्शन है या तो आप अपने पैसों को ऐसी जगह इन्वेस्ट करो जहां आप को सबसे ज्यादा लॉन्ग टर्म फायदा होगा यानी अच्छा रिटर्न्स मिलेगा जैसे Author कहते हैं  इंडेक्स फंड में या डायरेक्ट स्टॉक्स में लेकिन उसके लिए आपको उसको सीखना पड़ेगा उसका प्राइस वही है और यह प्राइस भी डॉलर में होगी। बल्कि थोड़ा टाइम देकर उसके बारे में सीख कर करोगे लेकिन उसके बदले में आपका फ्यूचर ब्राइट होगा। दूसरा ऑप्शन यह है कि आप अपने पैसों को कोई सेफ जगह पर रख दो आपको ज्यादा रिटर्न  नहीं मिलेगा लेकिन आपके पैसे सेफ रहेंगे। जैसे बैंक में या गोल्ड  में उससे आपको आपका पैसा तो  सेफ  मिल जाएगी लेकिन उसके बदले में आपको उतना प्रॉफिट नहीं मिलेगा। और वही उसका प्राइस होगा। तो इस तरह आप इस ऑप्शन में खराब रिटर्न्स लेकर इसका कीमत चुकाते हो. यहां पर सच बात यह है कि अधिकतर लोग दूसरा Option चुनते हैं. जिसको Author Car चुराने वाला Option कहते हैं. इसका simple reason यह है कि लोग अपने घर के लिए, अपने घर के डेकोरेशन के लिए, बाहर  जाने के लिए, खाना खाने के लिए बहुत सारा पैसा खर्चा करते हैं लेकिन अपने आप पर इन्वेस्ट करने के लिए

खर्चा नहीं करते क्योंकि अपने आप पर इन्वेस्ट करने का प्राइस उन्हें क्लियर दिख  नहीं रहा. उन लोगों के लिए दिखाने वाली चीज ज्यादा इंपोर्टेंट है जैसे गाड़ी, घर, Bank FD. उन्हें स्टॉक मार्केट का  इन्वेस्टमेंट में future उतना clear दिख नहीं रहा। इसीलिए लोग ये Option चुनते नहीं है उसी तरह जिस तरह चुराने वाले को उस कार की चुराने की असली कीमत नहीं दिख रही. यहाँ पर Author कहते हैं आपके पैसे धीरे धीरे ग्रो होते हैं Compounding के जरिये लेकिन बर्बादी रातों रात हो जाती है. 

Lesson 3: Getting Wealthy Vs Staying Wealthy

दोस्तों अमीर बनने के कई तरीके होते हैं. लेकिन गरीब होने का एक ही कारण होता है पैसों को बराबर सही तरके से हैंडल नहीं करना। उसको ज्यादा से ज्यादा खर्चा करना। इसीलिए Author  हमें कहते अमीर बनने से ज्यादा मुश्किल अमीर बने रहना है क्योंकि जब आदमी के पास पैसा नहीं होता है तो उसे कंट्रोल करने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि उसके पास पैसा ही नहीं है लेकिन जब आदमी के पास बहुत सारा पैसा होता है तो उसे self-control सीखना ही पड़ता है. इसीलिए आपको आपको अमीर बनना और अमीर बने रहने के लिए अलग-अलग Mind-set चाहिए। लेकिन अगर आप शुरुआत से ही थोड़ी बहुत सेविंग करके इन्वेस्ट करते हो और उसके थ्रू अमीर बनते हो तो चांस है क्या आपको वही Mindset आपको अमीर रखेगा और इसीलिए आज दुनिया के 90% से भी ज्यादा अमीर लोग Self-made है. और दुनिया के 70% Lottery Winner दस साल  के अंदर – के अंदर वापस  से गरीब बन जाते हैं. तो इसीलिए आपको हमेशा एक सर्वाइवर Mind-set रखना चाहिए। 

इसके लिए आपको तीन चीजों की जरूरत होती है

1 . Aim to financially unbreakable 

आप अपने आप को mentally और financially  इतना स्ट्रांग बना दो कि मार्केट साइकिल से आपको कुछ फर्क ना पड़े। जब आप  इन्वेस्ट करते हो तो आपको पता है कि इसमें मार्केट साइकिल होते हैं. और इसका भी प्राइस flukchuate होता है. जब प्राइस गिरता है  तो हम बेचते नहीं है बल्कि हम और ज्यादा खरीदते हैं. उसी तरह हमें यही लॉजिक  यूज़ करना चाहिए स्टॉक मार्केट और mutual fund में कि आपको  मार्केट साइकिल  से डरना नहीं है बल्कि उसमे अपना बेनिफिट करना है.

2 . Good Plan Leaves Room For Error 

 आप जब भी  कोई प्लानिंग करते हो तो उसमें इस बात पर भी गौर करो क्या करूं इन्वेस्टमेंट प्लान के मुताबिक नहीं होता है तो आप क्या करोगे अब क्या करोगे क्या होगा आपका Plan B क्या होगा?  इन्वेस्टिंग की दुनिया में हम इसीलिए एक Portfolio Creat  करते हैं. 

3 . Be Optimistic about the future but paranoid about obstacles to success

 आपको  Future  को लेकर एकदम Optimistic  रहना  चाहिए लेकिन हमेशा अपने Present  को लेकर aleart  चाहिए कि उसमें कोई खतरा तो नहीं है? Author ने यहाँ दो  example दिए हैं. पहला Ronald Read का. इस आदमी ने पूरी जिंदगी चौकीदार की नौकरी की है लेकिन उसके मरने से पहले उसके पास 8 मिलियन यूएस डॉलर यानि  inr में लगभग 55 करोड़ होते हैं. कोई आदमी छोटी-मोटी नौकरी से इतने सारे पैसे कैसे जमा कर सकता है? तो उसका आंसर है Saveings और Investing  की आदत डाल के. और दूसरी तरफ दूसरा Example है Richard Fuscone का.  यह आदमी दुनिया के टॉप कॉलेज हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से पढ़ाई करता है कंपनी के सबसे टॉप कंपनी मरीन लिंच में काम करता है वो भी अच्छे पोस्ट पर. उसके खर्चा करने की वजह से 2008 में उसे बैंक क्रप्ट घोषित करना पड़ा. 

दोस्तों गरीबी से भी बुरी चीज़ है की आप अमीर बने और फिर वापस गरीब हो गए तो इसीलिए अगर आप अपने दम पर 1000000 रुपए इन्वेस्ट करके उसे मैनेज नहीं कर सकते तो आप 10 करोड़ होता मैनेज नहीं कर सकते और इससे हमें यह पता चलती है कि आप की सबसे बड़ी प्रॉब्लम कम पैसा नहीं है आपकी बड़ी प्रॉब्लम यह है कि आपको पैसा मैनेज करना नहीं आता. क्योंकि गरीब लोगों की सोच हमेशा यह होती है कि जब हमारे पास ज्यादा पैसा आएगा तो हम उसे मैनेज करना सीखेंगे लेकिन अमीर लोगों की सोच होती है कि जब हम थोड़े पैसे को अच्छे से मैनेज  करेंगे तो हमारा पैसा अपने आप बढ़ जाएगा।

4 . Savings and Financial Freedom 

 दोस्तों  दुनिया में तीन तरह के लोग होते हैं. एक वो जो सेव करते हैं,  दूसरे लगता है वह सेव नहीं कर सकते और तीसरे उन्हें लगता है उनको सेव करने की जरूरत ही नहीं है. आप 3rd category में नहीं आते हो क्योंकि आप यह वीडियो देख रहे हो.

दोस्तों आप सेविंग के बारे में बहुत सुनते होंगे. आपको बचपन से आपके Parents ने कहा होगा कि पैसे सेव करा करो लेकिन ये Savings भी इतनी इंपोर्टेंट क्यों है क्योंकि हर एक रुपया जो save करके invest करते हो वह आपका फ्यूचर का वह टाइम खरीदता है जो  शायद किसी और ने खरीद के रखा था. तो इसीलिए Author के हिसाब से अगर आपकी सैलरी कम भी हो तो भी आप अमीर बन सकते हो लेकिन अगर आप सेविंग करते ही नहीं हो तो आप कभी अमीर बनोगे ही नहीं।

Subscribe

[mc4wp_form id=”117″]

 Lesson 5: Timeless Advice on Money 

1. Independent Decision: अपने सारे Decision Independent होकर लो, यह सोचकर नहीं किसी को दिखाना है या किसी ने किया था इसलिए मुझे भी करना है. 

2 . Live Below Your Means: सबसे बुरी चीज़ यह है कि आप अपने फ्यूचर की कमाई को आज ही खर्चा कर दो.

3 . Seek Pleasure From Low Cost Activity: आप एक्सरसाइज, खेल, Learning इन सब पर अपना थोड़ा समय जरूर दो क्यूंकि जिंदगी के असली मज़ा  इन छोटी-मोटी में जो चीजों में रोज होती है.  इससे आप भी Healthy रहोगे भी Wealthy भी रहोगे और Wise भी रहोगे।

4 . Maintain 20% of Wealth in Liquid Funds: आप अपने पास हमेशा 20% Liquid Amount जरूर रखें। अगर market में me में अचानक गिरावट होती है तो आपको अपने शेयर बेचने की जरूरत नहीं होगी बल्कि आप उस समय इस फंड के जरिये और ज्यादा शेयर खरीद सकते हैं.

5 . याद रखें आपके पैसे जब भी बढ़ेंगे तो Compounding के द्वारा ही बढ़ेंगे इसलिए आप इसमें कोई रुकावट नहीं डालिये।

6 . Three key element to financial success : 1. High savings rate, 2. Patience, 3. Long-Term Optimism