The Alchemist Book Summary in hindi

0
(0)

The Alchemist Book Summary in hindi: The Alchemist किताब की कहानी एक संत टियागो नाम के किरदार के आस पास घुमती है. इस किरदार को लेखक ने एक हीरो के रूप में प्रस्तुत किया है. जिसके कारण इस किताब को समझने में काफी आसानी होती है. इसके वजह से किताब को लेखक की शानदार प्रस्तुति कहा जा सकता है. तो आईये जानते हैं किताब के बारे में और दोस्तों इस किताब को पढ़ने के बाद हमे बहुत ही खास बातें सीखने को मिलती है. मै यहाँ आपको वो खास बातें जो मै बताने जा रहा हूँ, मुझे यकींन है की आपको भी ये पढ़ कर अच्छा लगेगा. इसके अलावा आपको सीखने के लिए भी बहुत कुछ मिलेगा. आपको ये Book Summary अच्छा लगता है तो प्लीज़ Sign-up जरुर कर लीजियेगा ताकि आप को हमारी नई आर्टिकल की Notification मिलती रहे. इसके बाद आप अगर इस किताब को खरीदना चाहते हैं तो उसका Link नीचे दिया हुआ है.

The Alchemist Book Summary in hindi

The Alchemist Book Summary in hindi

Sain Tiyago एक चरवाहा लड़का था. वो स्पेन में रहता था. उसे आजादी से रहना बहुत पसंद था. वह दिन भर अपने भेढ़-बकरियों के साथ व्यस्त रहता था. उसके दिमाग में एक लड़की का ख्याल चलता था. जिससे वो तरीफा (एक प्रकार का मेला) में मिला था. वो फिर एक बार तरीफा जा रहा था उसी लड़की से मिलने जा रहा था. जब वो जा ही रहा था तो रास्ते में रात हो गयी तब उसने सोचा की अभी आराम कर लेता हूँ. आगे का रास्ता सुबह में तय किया जायेगा. इसी बीच उसने रास्ते में एक चर्च देखा. उसने सोचा की वो रात यहीं गुजार लेगा. उसने अपने भेढ़ बकरियों को वहीँ एक किनारे बाँध कर खुद सिकामोर पेड के नीचे सो गया. वहां पर उसको एक सपना आया की इजिप्ट के एक पिरामिड के नीचे बहुत सारा खजाना भरा हुआ है. वो खजाना Sain Tiyago को अपनी ओर बुला रहा है. जिसके कारण वो अचानक से उठ गया. Sain Tiyago के साथ ऐसा पहली बार नही था की उसने इस सपने को पहली बार देखा था. इसके बाद उसने इस सपने का मतलब जानने के लिए सोचा की किसी से पुछ लिया जाय. इसी कारण वो एक औरत के पास गया, इस सपने का मतलब जानने के लिए क्योंकि वो औरत काफी प्रचलित थी,

इस तरह के सपने के मतलब को बताने के लिए. औरत उसके सपने को जानने के बाद बोली की मै तुम्हे इस सपने का मतलब तो बता दूंगी मगर तुम्हे उस खजाने को मिलने के बाद उसका दसवां हिस्सा मुझे देना होगा.  Sain Tiyago ने भी उसकी बातों को मान लिया. तब उस औरत ने उसको बोला की तुम्हे सच में वो खजाना मिल जायेगा मगर तुम्हे इजिप्ट जाना होगा. हालाँकि उस औरत की बात सुनकर वो बिना रिएक्ट ही वहां से चला गया. शहर जाकर वो एक बेंच पर बैठा हुआ था तभी वहां एक बुढा व्यक्ति आया और उसने Sain Tiyago को अपना परिचय देते हुए कहा की वो सालेम का राजा है. मगर Sain Tiyago ने उसकी बातो पर ध्यान न देकर वहां से जाने लगा. तभी उस बूढ़े आदमी ने कहा की मै तुमहे उस खजाने को ढूढने में मदद कर सकता हूँ. फिर उसने Sain Tiyago को बताया की हर किसी के जिंदगी में एक खास मकसद होता है तुम अपने भेढ़-बकरियों को बेचकर उस खाश मकसद की तलाश कर लो. Sain Tiyago उसकी बात को काफी गंभीरता से लेते हुए अपने भेढ़ बकरियों को बेच कर जो शिप अफ्रीका जा रही थी उस पर चढ़ गया.

The Alchemist Book Summary in hindi : अब यहाँ से Sain Tiyago का सफ़र शुरू हो गया. Sain Tiyago तैन्जियर पहुँच गया जो मोरक्को का एक शहर है. वो जैसे ही वहां पहुंचा उसके सारे पैसे चोरी हो गए. वो इसके कारण परेशान तो काफी हो गया लेकिन उसने हार नहीं मानी. वो एक क्रिस्टल शॉप में गया और बोला की मै आपके क्रिस्टल साफ़ कर दूंगा और आप इसके बदले मुझे खाना दे दीजियेगा. अब जैसे ही Sain Tiyago ने क्रिस्टल को साफ़ कर दिया वो देखने में बेहतरीन लगने लगे. जिसके कारण वो दुकानदार भी अच्छी कमाई करने लगा और अमीर भी हो गया. उसने इसका क्रेडिट Sain Tiyago को देते हुए उसे अच्छे पैसे भी देने लगा. Sain Tiyago मगर अपने सपनों को लेकर काफी गंभीर था. उसने एक दिन जैसे सुना की सहारा रेगिस्तान को पार करके एक कारवां इजिप्ट जाने वाला है, उसने उस दुकान के मालिक को अलविदा कहते हुए उस कारवां में शामिल हो गया. उस कारवां में उसको एक इंग्लिश आदमी मिला, जिससे उसकी दोस्ती हो गयी. वो इंग्लिश आदमी अल्केमिस्ट को खोजने (मिलने) जा रहा था. उसने उसे बताया की वह अल्केमिस्ट इतना ताकतवर है, कि वो ताम्बे को सोने में बदल सकता है.

इसी बीच कारवां को ये सुचना मिली की रेगिस्तान में एक जंग होने वाली है. जिसके कारण वो सब वहीँ एक जगह पर रुक गये. इस जगह का नाम था ओयसिस. यहाँ पर Sain Tiyago को एक लड़की मिलती है जिसका नाम था फातिमा. इसी लड़की ने उनको अलकेमिस्ट का पता दिया. अब यहाँ पर Sain Tiyago को उस लड़की से प्यार भी हो गया. यहाँ से वो इंग्लिश आदमी अलकेमिस्ट से मिलने चला गया. अलकेमिस्ट जब उस इंग्लिश आदमी से मिला तो उसने उसे एक काम दे दिया कि पहले तुम कोशिश करो लेड को गोल्ड में बदलने के लिए. अब इंग्लिश आदमी अपने काम में व्यस्त हो गया और Sain Tiyago को फातिमा मिल गयी थी.  सब कुछ ठीक चल रहा था की अचानक से Sain Tiyago को एक सपना आया की ओयसिस पर हमला होने वाला है. उसने ये बात वहां के सरदार को बता दी. तब सरदार ने कहा की हमलोग तैयारी तो कर लेंगे मगर अगर जंग नही हुई तो हम तुम्हे मार देंगे. लेकिन दुसरे ही दिन ओयसिस पर हमला हो गया और ओयसिस के लोग उनको इसलिए हरा पाए क्योंकि उन्होंने अपनी तैयारी कर रखी थी. इस घटना के बाद से Sain Tiyago का कद वहां बहुत ही बड़ा हो गया.

उसे बहुत सारा सोना भी उपहार स्वरुप मिला. यहाँ पर Sain Tiyago ने सोचा की मेरे पास आज सब कुछ है अब मै यहीं पर फातिमा से शादी करके रह सकता हूँ. तब फातिमा ने उससे कहा कि सच्चा प्यार कभी भी तुम्हे अपने से दूर नहीं रखेगा. उसने कहा की वो उसका हमेशा इंतजार करेगी, तुम्हे अपने सपनों को पूरा करना चाहिए. उसी शाम को अल्केमिस्ट भी Sain Tiyago से मिला और दोनों साथ मिलकर पिरामिड की तरफ चल दिए. अब रास्ते में फिर उनका सामना लुटेरों से हो गया और उन्होंने उनसे सारा सोना लुट लिया. अब ये लुटेरे उनको मारने वाले थे तभी अल्केमिस्ट ने कहा की ये बहुत बड़ा जादूगर है. ये सबको हवा में उड़ा सकता है. ये सुनकर सब हंसने लगे और उनलोगों को तीन दिन का समय दिया कि हमे हवा में उड़ावो नहीं तो हम तुम्हे मार देंगे. ये सुनकर Sain Tiyago बहुत डर गया. तब अल्केमिस्ट ने उससे कहा की डरो मत बल्कि हवा की ताकत को समझने की कोशिश करो. ये बात सुनकर Sain Tiyago को हिम्मत आ गयी और उसने तीसरे दिन सबको हवा में उड़ा दिया. जिसके कारण वो लुटेरो ने उनको फिर छोड़ दिया. आगे जाकर अल्केमिस्ट ने एक जगह पर ताम्बे को सोने में बदला और सोना देकर Sain Tiyago को आगे का सफर अकेले करने की सलाह देकर खुद वहीँ रुक गया.

आगे जाकर Sain Tiyago फिर से लुटेरों के चंगुल में फंस गया. उन्होंने Sain Tiyago से सारा सोना फिर लुट लिया और Sain Tiyago को बहुत बुरी तरह से मारा. Sain Tiyago जब अधमरा हो गया था तब वो अपनी कहानी बडबडाने लगा कि वो कैसे एक सपने को देखकर यहाँ पिरामिड के पास आ गया. ये बातें सुनकर सब लुटेरे एकदम से हंसने लगे. इतने में एक लुटेरा हँसते हुए कहता है की कौन अपने सपने के लिए इतना पागल होता है. फिर वो बोलता है की मैंने भी एक सपना देखा था की स्पेन में एक सुनसान जगह पर एक चर्च के पास सिकामोर पेढ़ के नीचे बहुत सारा खजाना जमीन के अंदर है मगर मै उसको लेकर कभी भी पागल नहीं बना. मै इसकी तरह बेवकूफ नहीं हूँ. इतना बोलकर वो सब लुटेरे वहां से हँसते हुई चले गये. यह सब सुनकर एक दम से समझ गया की वास्तव में खजाना कहाँ पर है. Sain Tiyago वापस से स्पेन गया वहां सिकामोर पेढ़ के नीचे खोद कर खजाना निकाला और जिसके साथ जो कमिट मेंट था पूरा करके अपनी फातिमा के पास गया. उससे शादी करके ख़ुशी ख़ुशी अपनी जिंदगी जीने लगा.

Also Read:

The Psychology Of Money Book Summary in Hindi

Breast tax

Mother Teresa Biography 

Buy Book

The Alchemist Book Summary in hindi

The Alchemist Book in hindi

Subscribe

Loading

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

%d bloggers like this: