Rabbit Proof Fence movie in hindi

0
(0)

Rabbit Proof Fence movie in hindi : कहते हैं कि किस्मत से आप एक अच्छे घर में पैदा हो सकते हैं, किस्मत से आप पैसा कमा सकते हैं मगर किस्मत से आप कभी भी हिम्मत या साहस नहीं कमा सकते. यह हर एक इंसान के भीतर ही होती है बस उसे ढूंढने की जरूरत होती है. ये एक कहानी बिल्कुल इसी तरह के हिम्मत की सच्ची कहानी है.

Rabbit Proof Fence movie in hindi

Rabbit Proof Fence movie in hindi

Rabbit Proof Fence movie in hindi : कहानी शुरू होती है वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के एक गांव से इस गांव का नाम जिनलॉन्ग है. यह समय होता है 1931 का. इस गांव में आदिवासी लोग ही रहा करते हैं और पिछले 100 सालों से यहाँ गोरे अंग्रेज लोग इनको जमीन बढ़ाने से रोक रहे हैं. इसी समय यहां ऑस्ट्रेलिया में एक कानून पास हुआ है जिसके बाद आदिवासियों की जिंदगी बिल्कुल बदल सी गई है. आदिवासियों का एक लीगल गार्जियन भी बनाया जाता है जिसका नाम है ऐ ओ नोविल.  वह अपने पावर से इन आदिवासियों की जिंदगी को किसी भी तरह से कंट्रोल कर सकता है. साथ ही यहां पर जो Half Cast Child होते हैं उसे कोई भी गोरे लोग कभी भी उठा सकते हैं. यह Half Cast Child उनको कहते हैं जिनकी मां आदिवासी होती है और पिता अंग्रेज.

ऐसी सी एक लड़की को दिखाया जाता है जिसका नाम मौली है. इसकी उम्र मात्र अभी 14 साल है. यह अपनी मां और नानी के साथ रहती है. इसके पिता इनके साथ नहीं रहते वह ऑस्ट्रेलिया में Fence बनाने का काम करते हैं. दरअसल इस समय ऑस्ट्रेलिया में Fence यानी हजारों मील लंबी तारों की दीवार बनाई जा रही है. जिसका उद्देश्य है कि इस ऑस्ट्रेलिया से जितने भी खरगोश या जानवर जो वेस्ट ऑस्ट्रेलिया की तरफ आते हैं उनको रोका जा सके क्योंकि वह जानवर फसलों को खराब कर देते हैं.

अभी मौली को कबीले में दिखाया जाता है कि उसे दो पुलिस वाले देख रहे हैं. मौली के साथ उसकी एक बहन भी होती है. उसकी दो बहन भी होती है जिसमें एक की उम्र अभी 8 साल है और इसका नाम डेज़ी है मौली के साथ जो दूसरी लड़की रहती है वह उसकी 10 साल की एक कजन है जिसका नाम ग्रेसी है और यह तीनो के तीनो Half Cast Child है.

यह दोनों पुलिस वाले उनको देखकर वहां से चले जाते हैं. जब यह बात नेविल को पता चलती है तो वह तीनों बच्चियों को उनके गांव घर से उठाने का हुकुम कर देता है. इसके बाद पुलिस वहां उसके घर जाती है और तीनों बच्चियों को उठा लेती है. मौली की मां और नानी इसका पुरजोर विरोध करती है लेकिन सरकारी लोगों के सामने वह लोग ज्यादा देर टिक नहीं पाते और फाइनली तीनों बच्चियों को पुलिस उठाकर ले जाती है.

Rabbit Proof Fence movie in hindi: वे तीनों बच्चियों को कई 100 किलोमीटर दूर ट्रेन में जानवरों की तरह एक तार की जाली में बंद करके ले जाते हैं. वह जिस जगह पर जाते हैं उस जगह का नाम पर्थ है. यहां पर मिशनरीज काम करती है और यह मिशनरीज Half Cast Child बच्चों को घर के काम खेती के सारे काम सिखाते हैं ताकि वह गोरे लोगों के घर पर काम कर सके. आगे चलकर यह लोग गोरे लोगों से शादी विवाह भी कर सके. इनका मानना था कि तीन पीढ़ी के बाद Half Cast Child के अंदर जो सेल्स होते हैं वह पूरी तरह बदल जाते हैं. इसके बाद उनके बच्चे गोरे बच्चों में पूरी तरह से कन्वर्ट हो जाते हैं. यही एक बड़ा कारण होता है कि वे आदिवासियों के उन बच्चों को जिनके पिता गोरे हैं उनको उनसे छीन कर वहां से छीन कर यहां ले आते हैं उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि इससे उन बच्चों और उनके परिवारों के दिल पर क्या दर्द बितती है.

Rabbit Proof Fence movie in hindi

कुछ दिनों बाद मिस्टर नेवल को दिखाया जाता है. वह मौली को पास बुलाकर उसका स्किन चेक करते हैं कि उसमें कुछ बदलाव हुआ है या नहीं. उसमें किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं दिखता. दरअसल जिन बच्चों का स्किन  में बदलाव होता है उनसे फिर यह सब काम नहीं करवाया जाता बल्कि उन्हें नॉर्मल स्कूल में नॉर्मल बच्चों के साथ पढ़ने भेज दिया जाता है. अब मौली और उसकी बहनों को यहां के तौर-तरीकों में पूरी तरह से ढलना है इसीलिए उन्हें यहां सब कुछ सिखाया जा रहा होता है.

कुछ दिनों से बात यहां एक आदमी को दिखाया जाता है. जो घोड़े पर बैठा होता है. इसे यहां पर लोग इसे ट्रैकर बोलते हैं. यह अपने साथ एक लड़की को ले कर आ रहा होता है. जो अपने बॉयफ्रेंड से मिलने के लिए यहां से भाग जाती है. ट्रैकर का यहां पर यहां पर यही काम होता है. उसे उन बच्चियों को जो यहां से भाग जाए उनको वापस से पकड़ कर लाना होता है. वह जिस बच्ची को पकड़ कर लाता है उसको एक छोटे से कमरे में बंद कर दिया जाता है और बहुत बुरी तरीके से उसकी पिटाई की जाती है. मौली और उसकी दोनों बहने यह सब कुछ देख रही होती है. हालांकि कुछ दिनों तक रहने के बाद मौली ऐसा ही करती है कि वह अपनी बहनों के साथ मिलकर यहां से भाग जाएगी मौली का दिल यहां पर बिल्कुल भी नहीं लग रहा होता है. साथ ही साथ उसे अपनी मां की बहुत याद आ रही होती है.

Rabbit Proof Fence movie in hindi: इसके बाद एक सुबह जब सारे बच्चे चर्च में प्रेयर करने गए होते हैं तब मौली अपनी बहनों के साथ यहां से भाग जाती है. मौली को उन लोगों को अपने घर के बारे में कि किस तरफ जाना है कुछ भी नहीं पता. यहां कैंपस में सारे बच्चे अपने अपने कामों में लगे रहते हैं. किसी को कुछ नहीं पता कि यहां से कौन गायब है. रात को जब सोने से पहले नन अटेंडेंस लेती है तब अटेंडेंस के दौरान उनको पता चलता है की मौली और उनकी बहन दोनों बहने बहनों को सुबह से किसी ने नहीं देखा है. उसके बाद यह बात ट्रैकर को बताई जाती है. ट्रैकर बच्चों को ढूंढने में बहुत ही शार्प होता है. वह उनके कदमों के निशान को देखकर उन तक पहुंच जाता है. जब ट्रैकर मौली और उसकी बहनों को ढूंढने जाता है तो उनके कदमों के निशान को देखकर उनकी तरफ बढ़ने लगता है.

वही मौली और उसकी बहनों को दिखाया जाता है कि वह लगातार भाग रहे हैं. उन लोगों को बस यह लगता है कि किसी भी तरह से वह घर पहुंच जाएं. इन लोगों को कैंप से भागे हुए पूरे 2 दिन हो चुके हैं. ट्रैकर भी लगातार इनका पीछा कर रहा होता है. मौली को यह महसूस हो जाता है कि ट्रैकर उनके कदमों के निशान को देखते हुए आ रहा है. इसलिए वह एक नदी के किनारे पहुंच कर रुक जाती है और अपनी बहन से उसका बैग मांगती है और बैग को झारियों दूसरी तरफ टांग देती है. जिससे कि ट्रैकर को यह लगे कि वह लोग दूसरी तरफ गए हैं. इसके बाद मौली खुद पानी के रास्ते बढ़ने लगती है ताकि ट्रैकर को उनके कदमों के निशान ना मिले. मगर ट्रैकर भी उनकी यह चालाकी को समझ जाता है और मौली के पीछे ही बढ़ने लगता है.

मौली और उसकी बहनों को यह आभास हो जाता है ट्रैकर उसके आसपास ही है इसलिए वह तीनो के तीनो झाड़ियों के पीछे छुप जाते हैं. इसी कारण ट्रैकर उन्हें नहीं देख पाता जब ट्रैकर वहां से निकल जाता है तब यह बहन ने बहने आगे का सफर तय करती हैं. यह तीनो के तीनो काफी भूखे हैं तभी इनको दो आदमी दिखाई देते हैं जो उनकी तरह ही आदिवासी है. इनके पास शिकार किया हुआ जानवर है. वह आदिवासी लोग इन तीनों को देखकर इनके कपड़े को देखकर समझ जाता है कि यह लोग कैंप से भागे हुए हैं साथ ही साथ वह वहां ट्रैकर को भी देखा हुआ होता है. वह इन तीनों को बताता है कि ट्रैकर बहुत ही स्मार्ट है आज तक जो भी कैंप से भागा है उन लोगों को ट्रैकर पकड़ कर वापस से कैंप ले गया है. वह मौली से पूछता है कि तुम लोगों को कहां जाना है मौली बताती है जिनलॉन्ग. फिर वह बोलता है जिनलॉन्ग यहां से बहुत ही दूर है और तुम लोगों का रास्ता यहां से बहुत लंबा है उसके बाद यह आदमी तीनों को मांस खिलाता है और कुछ मांग का टुकड़ा देकर साथ में माचिस देकर भेज देता है.

इधर केविन को पता चल चुका है की तीनों लड़कियां कैंप से भाग चुकी है. और ट्रैकर जो उनका पीछा कर रहा था नदी के बाद से उसको उनके कदमों के निशान मिलना बंद हो गया है. यह बात मौली की मां को भी पता चल जाता है कि तीनों बच्चियां कैंप से भाग चुकी है. यह जानकर उनको बहुत खुशी मिलती है. वह यह उम्मीद करती है कि उनके बच्चे जल्द से जल्द घर पहुंच जाएं. हालांकि उनके लिए यह सफर अभी बहुत ही लंबा है.

Rabbit Proof Fence movie in hindi : मौली को दिखाया जाता है कि वह एक घर के बाहर मुर्गी और उसे कुछ अंडों को वह चुराने की कोशिश कर रही है. तभी वहां उस घर की मालकिन आ जाती है जो एक वाइट लेडी है. वह माली को कुछ नहीं बोलती बल्कि उसकी तीनों बहनों को खाना खिलाती है. जब मौली जाने लगती है तब वह लेडी बोलती है कि तुम लोग उस Fence के पास से बच कर जाना क्योंकि वहां बहुत सारे लड़के रहते हैं जो Fence के पास खरगोश का शिकार करने की फिराक में रहते हैं. यह सुनने के बाद मौली पूछती है क्या Rabbit Poor Fence. वह लेडी कहती हैं हां. वह पूछती है फिर कि वह Fence कहां पर है तो वह लेडी इशारा करके बताती है कि वहां उस तरफ है. अब यह तीनो बहने Fence की तरफ जाने लगती है क्योंकि मौली को पता है कि वह अगर Fence के सहारे चलती है तो वह अपने गांव जिनलॉन्ग पहुंच जाएगी. जब मौली Fence के पास पहुंचती है तो उसे बहुत खुशी मिलती है क्योंकि वह जानती है यह Fence उसके घर के पास से गुजरती है. जहां पर उसकी मां उसका इंतजार कर रही होगी. दूसरी तरफ नेविल को पता चलता है कि इन बच्चियों को Fence के पास एक गांव में देखा गया था. नेविल समझ जाता है कि यह बच्ची हैं बच्चियां Fence के सहारे अपने गांव की तरह बढ़ रही है. वह मैप को देखकर यह अंदाजा लगा देता है कि कुछ दिनों के बाद यह बच्चियां “T पॉइंट” पर पहुंचेंगे. वह वहां पर ट्रैकर और कुछ लोगों को निगरानी में लगा देता है. वह कहता है कि जब यह बच्चियां उस “T पॉइंट” पर पहुंचे तुम उन लोगों को पकडकर कैंप ले आना.  जब मौली और उसकी बहने आगे बढ़ रही होती है तो उन्हें एक गोरा आदमी दिखाई देता है. यह एक अच्छा इंसान होता है वह इन तीनों को खाने के लिए देता है और पूछता है तुम्हें किधर जाना है? तो मौली बताती है हमें ईस्ट जाना है तब वह आदमी बोलता है यह Fence जिनके सहारे तुम चल रही हो यह वेस्ट की तरफ जाती है. तब मौलिक समझ जाती है कि वह गलत रास्ते पर जा रही है.

वह गोरा आदमी उन बच्चियों को एक शॉर्टकट रास्ता बताता है और कहता है अगर इस रास्ते पर तुम जाओगी तो तुम्हें कम दूर चलना होगा. कुछ दिन लगातार चलने के बाद मौली लोगों को एक घर दिखाई देता है और वहां एक लेडी दिखती है यह लेडी भी Half Cast Child है. वह लेडी इन बच्चियों को देख कर जान जाती है कि यह कैंप से भागी हुई है क्योंकि अब तक यह खबर अखबारों में आ चुकी है. उस लेडी से बात करते हुए उन बच्चियों को पता चलता है कि वह 800 मील का सफर तय कर चुकी है. लेडी कहती हैं इतना लंबा सफर आज तक किसी ने तय नहीं किया है वह मौली को रात में रहने के लिए बोलती है कि सुबह चली जाना. रात में उस लेडी के यहां एक आदमी आता है जो वाइट मैन है, वह बच्चियों को देखकर समझ जाता है. उस आदमी के जाने के बाद मौली वहां से जाना चाहती है. मगर वह लेड कहती है कि वह आदमी किसी को कुछ नहीं बताएगा. मगर आधी रात को मौली गाड़ियों की आवाज सुनती है मौली समझ जाती है कि उन्हें पकड़ने के लिए लोग आ चुके हैं. इसीलिए वह अपनी दोनों बहनों को लेकर घर के पीछे झाड़ियों में छुप जाती है. इसके साथ ही साथ अपने पैरों के निशान भी मिटा देती है. यहां पर ट्रैकर और उसके साथ वह लोग आते हैं जो उन बच्चियों को ढूंढ रहे हैं. लेकिन रात होने की वजह से वह उन लोगों को नहीं देख पाता. ट्रैकर सुबह आने के लिए उस समय चला जाता है. जब वह सुबह आकर देखता है तो उसे पता चल जाता है कि मौली ने पत्तों से अपने पैरों के निशान मिटा दिए हैं. रात को ही मौली और उसकी बहन यहां से बहुत दूर जा चुके हैं, इससे ट्रैकर इन लोगों तक नहीं पहुंच पाता. एक बार फिर से वह Rabbit Poor Fence के पास पहुंच जाते हैं.

दूसरी तरफ केविन जो बहुत ज्यादा नाराज है वह इंस्पेक्टर से कहता है की यह बात चारों तरफ फैला दो की ग्रेसी की मॉम ग्रेशी का बिलोना में इंतजार कर रही है. आगे जाकर मौली लोग को एक और आदमी मिलता है जो इन लोगों को खाने को देता है और बताता है की ग्रेसी की मां ग्रेशी का बिलोना में इंतजार कर रही है. तुमलोग वहां तक ट्रेन से जा सकती हो यह सुनने के बाद मौली वहां खड़ी हो जाती है और बोलती है चलो यहां से यह आदमी झूठ बोल रहा है. मगर यहां ग्रेसी उस आदमी की बातों में आ जाती है उसके बाद मौली अपनी बहन को कंधे पर बिठाकर वहां से निकल जाती है. ग्रेसी वहीं पर उस आदमी के साथ रुक जाती है. आगे जाकर मौली को एहसास होता है कि उसे ग्रेसी को नहीं छोड़ना चाहिए था वह फिर से वापस आती है. तब देखती है ग्रेसी वहां स्टेशन में बैठकर ट्रेन का इंतजार कर रही है माली छुपकर उसे इशारों में बुलाती है ग्रेसी जैसे ही आने वाली होती है. तभी नेविल का आदमी वहां पर आ जाता है और उसके साथ वह आदमी भी होता है जिसने उसे झूठ बोला था कि ग्रेसी की मां बिलोना में उसका इंतजार कर रही है. यह उसने कुछ पैसों के लालच में बोला था.

Rabbit Proof Fence movie in hindi : अब ग्रेसी को पकड़ लिया गया है. मौली और उसकी बहन यह सब देख रहे होते हैं, मगर वह कुछ नहीं कर सकते. अब वह अपने घर की तरफ बढ़ना शुरू कर देते हैं अब वहीं नेविल ज़िगलॉन्ग इंचार्ज को खत लिखता है कि जैसे ही मौली और उसकी बहन घर पहुंचते हैं उनको दोबारा पकड़कर वापस कैम्प भेज दिया जाए. इधर मौली और उसकी बहन बिना रोक-टोक अपने घर की तरफ बड़े चले जा रहे थे हालांकि वह पूरी तरह से थक चुकी हैं. उनके पास खाने-पीने का कुछ भी नहीं है अगर कुछ है तो सिर्फ और सिर्फ हिम्मत. कुछ समय के बाद उसे आसमान में चील उड़ता हुआ दिखाई देता है जिससे यह बहने समझ जाती है कि वह घर के ही आसपास में है. मगर उनको यह नहीं पता कि जिनलॉन्ग में ही नेविल का आदमी उन लोगों का इंतजार कर रहा है. कुछ समय के बाद इस आदमी को एहसास हो जाता है की मौली और उसकी बहन पहुंचने वाली है तो वह जंगल की तरफ बढ़ने लगता है. लेकिन आगे जाने के बाद उसे मौली की मां और नानी मिल जाती है और वह वहां से डर कर भाग जाता है. अब मौली की मां और नानी जब थोड़ी देर और आगे जाती है तब उन्हें मौली और उसकी बहन दिख जाती है वह इन दोनों बच्चियों को देखकर बहुत ही ज्यादा खुश होती है. वो उन्हें अपने सीने से लगा लेती है. इसके बाद मौली की मां और नानी वापस जिगलोंग लौटते ही नहीं क्योंकि उन्हें पता है कि अगर वे लौटे तो  नेविल के आदमी वापस से इन्हें पकड़कर कैंप ले जाएंगे. इसलिए वह दोनों बच्चियों को लेकर दूर जंगल में चली जाती है ताकि नेविल और उसके आदमी उन तक कभी ना पहुंच पाए. इधर नेविल को दिखाया जाता है कि उसको बोला जा रहा है कि हमारे पास इतना फंड नहीं है कि हम मौली और उसकी बहन को फिर से ढूंढ पाए इसलिए हम इस केस को यहीं पर बंद करते हैं. अंत में मौली और उसकी बहन डेजी के फुटेज को दिखाया जाता है.

Rabbit Proof Fence movie in hindi

जो कि अब बहुत बड़ी हो चुकी है. उन लोगों ने कैंप से अपने घर तक का सफर खाली पांव 24 00 किलोमीटर तय किया था. जो अपने आप में हिम्मत और हौसले की कहानी को साकार करता है. दोनों बहनों ने बताया कि उन्होंने फिर कभी अपनी बहन ग्रेसी को नहीं देखा मौली  का कहना है दुख दर्द उनके जिंदगी का एक हिस्सा है लेकिन वह कभी भी हार कर नहीं रहना चाहती. आपको यह कहानी अच्छी लगी तो नीचें Subscribe जरुर कर लें ताकि आपको Notification मिलता रहे.

Also Read:

The Ninth Gate Movie Story in hindi 

POSEIDON Movie Story in hindi 

Wings of fire hindi ebook        

Power of Your Subconscious Mind,The (Hindi)  

Subscriber

Loading

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

%d bloggers like this: