PM Gati Shakti National Master Plan & Global Hunger Index Reality

इस Article में दो Topic की चर्चा एक साथ की गई हैं. पहला Topic – PM Gati Shakti Yojna है और Second Topic है Global Hunger Index (GHI – ग्लोबल हंगर इंडेक्स) 2021.

यहां 2 टॉपिक एक साथ इसलिए कवर किया है ताकि आपको कंपैरिजन (तुलना) करने में आसानी हो.

सबसे पहले जानते हैं

गति शक्ति योजना के बारे में

PM Gati Shakti National Master Plan

दोस्तों कोरोना महामारी के बाद अर्थव्यवस्था की रफ्तार में गति बढ़ाने के उद्देश्य से सरकार नए-नए योजनाओं को लागू कर रही है. इसी के तहत इस योजना को भी लागू किया गया है.

इस योजना का नाम है प्रधानमंत्री गति शक्ति नेशनल मास्टर प्लान PM Gati Shakti National Master Plan .

यह योजना कोई एक खास काम पर आधारित नहीं है बल्कि इसमें कई सारे योजनाओं की Repackaging की गई है.

इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में चल रहे विकास के कार्यक्रम में तेजी लाना है.

Must Read

Old NCERT Books hindi & English

UGC NET Management

इस योजना के तहत क्या क्या होने वाला है?

देश में कनेक्टिविटी को बढ़ाने और मजबूत करने के लिए नेशनल हाईवे को 2लाख किलोमीटर का नेटवर्क बनाया जाएगा.

रेलवे व्यापार में ज्यादा सुविधा के लिए 1600 मिलियन टन का कार्गो डिवेलप किया जाएगा.

35000 किलोमीटर गैस पाइपलाइन का नेटवर्क बिछाया जाएगा.

इस योजना में भारतमाला, सागरमाला, पोट्स, उड़ान और रेलवे जैसे इंफ्रास्ट्रक्चर की योजनाओं को कवर किया जाएगा.

इस योजना के अगले चरण में सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे अस्पताल और यूनिवर्सिटी को शामिल किया जाएगा.

इस योजना के तहत सरकार 109 फार्मा कलस्टर विकसित करेगी. इससे देश में Health Sector काफी ज्यादा मजबूत होगा.

इस योजना से जुड़े सभी प्रोजेक्ट्स को GIS मोड में जोड़ दिया जाएगा.

इससे देश के युवाओं के सामने रोजगार के नए नए अवसर खुलेंगे.

इस योजना से देश में चलाए जा रहे हैं Make in India कार्यक्रम को मजबूती मिलेगी.

यह योजना सरकार के कई ऐसे प्रोजेक्ट को पूरा करेगी जिसको सरकार 2024- 25 तक पूरा करना चाहती है.

यह बिल्कुल सच है कि अगर इन योजनाओं पर नजर डाला जाए तो लाए ऐसा लगता है कि हमारा देश विकास के बहुत ऊंचे पायदान पर स्थित है मगर जब दूसरे Topic को देखते हैं तो हकीकत कुछ और नज़र आता है.

यह देखने के लिए हम नजर डालते हैं ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2021 पर और समझते हैं इसको विस्तार से

Global Hunger Index

देखिये अभी हाल ही में ग्लोबल हंगर इंडेक्स 2001 की लिस्ट जारी की गई है.
इसके अनुसार भारत की स्थिति ज्यादा खराब बताई जा रही है.

116 देशों के इस लिस्ट में भारत 101 स्थान पर है. इससे पहले 2020 में भारत 94 स्थान पर था.

भुखमरी में के मामले में भारत – पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश से भी पिछड़ा हुआ है.

भारत को अलार्मिंग हंगर की कैटेगरी में रखा गया है.

116 देशों के इस लिस्ट में भारत के बाद 15 देश शामिल हैं. जिसमें 102 में पापुआ न्यू गिनी और 103 में अफगानिस्तान है. सबसे अंतिम स्थान पर 116 में सोमालिया है.
तो देखा जाए खाद्यान्न के मामले में भारत अफगानिस्तान के आसपास नजर आता है.

Also Read

BSF New Order full details in hindi

How to become a College Lecturer

इन दो टॉपिको को एक साथ कवर करने का जो उद्देश्य है, वह यह है कि आप इन योजनाओं की हकीकत और अपने देश की वर्तमान हकीकत को अच्छी तरीके से तुलना कर सकें.

क्योंकि एक तरफ देश में इतने बड़े-बड़े विकास से कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं और दूसरी तरफ देश की सच्चाई कुछ और बयां कर रही है तो हकीकत आखिर है क्या?

Conclusion (निष्कर्ष)

निष्कर्ष के तौर पर यह कहा जा सकता है कि शायद जो योजनाएं चलाई जा रही हैं उनमें गति के लिए, उसे सही से पूरा करने के लिए ही और उसका लाभ जनता तक पहुंचाने के लिए ही यह प्रधानमंत्री की गति शक्ति योजना लागू की गई है मगर इसकी हकीकत आने वाले समय में पता चल पायेगा है.


0 Comments

Leave a Reply

Avatar placeholder

Your email address will not be published. Required fields are marked *