God of Egypt in hindi

God of Egypt in hindi
0
(0)

God of Egypt in hindi

यह कहानी उस वक्त की है जब देवता इंसानों के साथ रहा करते थे। उनकी उम्र हजारों साल की हुआ करती थी। और वे इंसानों के ऊपर राज किया करते थे। कहानी में यह दिखाया जाता है, कि मिस्र देश वह देश है जहां पर देवताओं ने अपनी हर एक रचना को बनाया। इंसान को भी यहीं पर बनाया गया।और इसके बाद देवताओं ने इंसानों के साथ यहीं पर रहने का फैसला किया। देवताओं में और इंसानों में बहुत बड़ा फर्क होता है। देवता इंसानों से ज्यादा लंबे चौड़े और ताकतवर होते थे। देवताओं की रगों में खून नहीं बल्कि सोना बहता है। वे जब चाहे किसी भी दरिंदे का रूप धारण कर सकते हैं। लेकिन यह भी सच है कि इंसानों के बिना देवता भी अधूरे हैं। मिस्र में यह दिखाया जाता है कि हवा का देवता जिसका नाम हौरर्ष है। आज इसकी ताजपोशी है। पूरा मिश्र इस बात की खुशियां मना रहा होता है। सब के सब उसकी ताजपोशी देखने के लिए आते हैं। जब हॉरर्स के पिता ताज रखने वाले होते हैं, तभी वहां पर एक और देवता आता है जो रेगिस्तान ओं का देवता होता है। और यह हॉरर्स का चाचा है। वह होरेस को एक उपहार देता है। वह अपने भतीजे को कहता है कि इस बिगुल को बजाओ। जैसे ही वह बिगुल को बजाता है यहां पर बहुत सारे सैनिक आ जाते हैं। और वे इस जगह को चारों तरफ से घेर लेते हैं। यह सभी सैनिक रेगिस्तान के देवता के हैं। इसके बाद वह होरेस के पिता को मार देता है। साथ ही साथ यहां पर जितने भी देवता होते हैं, उन सब को कहता है कि जो मेरे आगे नहीं झुकेगा वह सब मारे जाएंगे। इसलिए सब के सब देवता उसके आगे झुक जाते हैं।



साथ ही साथ इंसानों को भी ऐसा ही करना पड़ता है। यह सब देख देख कर हॉरस को बहुत गुस्सा आता है। वह अपना रूप बदल लेता है, और अपने चाचा से लड़ना शुरू करता है। लेकिन वह उनसे जीत नहीं पाता।और राजस्थान के देवता अपने भतीजे की दोनों आंखें निकाल लेते हैं।वह अपने भतीजे को जिंदगी भर अंधकार में जीने के लिए छोड़ देते हैं। धीरे-धीरे वक्त बीतता है। अब इंसानों की और पूरे मिश्र की हालत खराब हो चुकी है। क्योंकि राजस्थान के देवता एक अच्छे राजा नहीं हैं। क्योंकि वह इंसानों पर जुल्म करता है।मिस्र देश में एक चोर को दिखाया जाता है जो कि एक इंसान है। यह बहुत ही शातिर चोर होता है। इसका नाम होता है ड्यूक। और इस की गर्लफ्रेंड का नाम जाया होता है। ऋषि स्थानों के देवता की एक मुलाजिम है जो यहां पर आर्किटेक्ट है। जो यहां पर मिस्र के खुफिया महलों के नक्शे बनाता है। यह लोग राजस्थान के देवता के गुलाम होते हैं। वे लोग प्लान बनाते हैं कि हमें राजस्थान के देवता से आजादी सिर्फ हॉरस दिला सकता है। इसके लिए हम भी उसकी आंखें वापस करनी होंगी। इसके बाद वह ड्यूक को दिखाती है कि आज राजस्थान के देवता के लोग खजाना लूट कर लाए हैं। वहीं पर हॉरस की आंख भी है। जाया उसे बहुत सारे नक्शे दिखाती है। ताकी ड्यूक को अंदर जाने की सही सही रास्ते पता चल जाए। ड्यूक किसी भी तरह खजाने की ट्रॉली में बैठ जाता है। जब खजाने को अंदर डाला जाता है तो ड्यूक भी उसके साथ अंदर चला जाता है। अंदर में एक हो भूल भुलैया है एक पहेली की तरह है। किसी भी कदम पर मौत मिल सकती है। यहां पर लोहे के बड़े बड़े योद्धा होते हैं। जो कई बार ड्यूक के ऊपर हमला भी करते हैं। लेकिन ड्यूक किसी भी तरह होरस के आंख तक पहुंच जाता है। लेकिन यहां पर एक ही आंख होती है। जब वह आंख लेकर जाया के पास जाता है। जाया जिसके गुलाम होती है, वह और उसके आदमी चारों तरफ से दोनों को घेर लेते हैं। क्योंकि उन्हें पता चल गया होता है कि उन्होंने खजाने के नक्शे को चुराया है। वह ड्यूक से पूछता है कि तुमने हमारे राजा के खजाने से क्या चुराया है। ड्यूक उस आदमी को एक बेशकीमती जेवर दिखाता है। और कहता है कि मैं यह जेवर चुराने के लिए गया था। वह आदमी जेवर ले लेता है, और अपने आदमियों से कहता है कि इन दोनों को भेड़ियों को खिला दो। तभी ड्यूक उस आंख को निकालता है उसमें बहुत ज्यादा रोशनी होती है।



जिसे सबकी आंखें चौंधीआ जाती है। ड्यूक अपनी महबूबा को लेकर वहां से निकल जाता है। इससे पहले कि दोनों भाग पाते हैं आर्टिटेक एक तीर चलाता है जो जाया को लग जाता है। वह बुरी तरह से जख्मी हो जाती। ड्यूक उसे लेकर एक मंदिर तक पहुंच जाता है। जिसके अंदर हॉरस रहता है। ड्यूक हॉरस को उसकी आंखें देने के बदले में एक शर्त रखता है। वह जाया को बचाने की शर्त रखता है। पोरस उसकी बात मान जाता है। हॉरस जो हवाओं का देवता है, वह पूरी कोशिश करता है कि वह जाया को जिंदा कर दे लेकिन वह नहीं कर पाता। तभी वहां पर यमराज का दूत प्रकट होता है। वह जाया की आत्मा को उसके शरीर से निकाल लेता है। वह उसकी आत्मा से पूछता है कि तुम मुझे क्या दे सकती हो। जाया के पास देने के लिए कुछ भी नहीं है। इस वक्त में यह दिखाया गया है, कि जो इंसान मरने के बाद दूत को सोना देता है वही पुनर्जन्म ले पाता है। और जाया के पास ऐसा कुछ भी नहीं है। इसके बाद यमराज उसकी आत्मा को ले जाता है। ड्यूक इस बात से दुखी हो जाता है। वह होरेस की आंख लौट आए बिना जाने लगता है। लेकिन हॉरर उसे पकड़ लेता है। ड्यूक को हॉरर की एक आंख लौटा नहीं पड़ती है। अब होरेस देख सकता है। वह ड्यूक से पूछता है कि मेरी दूसरी आंख कहां है। ड्यूक कहता है कि दूसरी आंख मेरे पास नहीं है। इसके बाद हारेस उसे छोड़ देता है। देवता ड्यूक से कहता है की जाया की आत्मा को नौवे गेट तक पहुंचने में बहुत टाइम लगेगा, अगर उस टाइम तक मैं राजा बन जाता हूं, तो मैं तुम्हारी जाया को वापस ला सकता हूं। वहां से जाया के शरीर को सुरक्षित जगह पर रख कर चले जाते हैं। होरेस राजस्थान के देवता को मारकर अपने पिता के मौत का बदला लेना चाहता है। वहीं दूसरी तरफ राजस्थान के देवता को पता चल जाता है कि और इसको उसकी एक आंख मिल चुकी है। इसमें एक इंसान ने उसकी मदद की है। इसलिए वह अपने लोगों को दोनों को मारने के लिए भेजता है। होरेस और ड्यूक दोनों एक ऊंचे पहाड़ पर जाते हैं। दोनों सूर्य देवता के पास जाते हैं। हॉरेस अपने दादा जी की आराधना करता है तो उसका रूप बदल जाता है। उसके पंख आ जाते हैं। दोनों सूर्य देवता के पास पहुंच जाते हैं। हर्ष अपने दादाजी से कहता है कि मुझे आपकी मदद चाहिए। उसके दादाजी पूछते हैं कि तुम्हें क्या चाहिए मुझसे। हॉरेस कहता है कि मुझे पवित्र पानी चाहिए। होरेस वहां से पवित्र पानी लेता है।



वहां से उड़कर वह वापस पृथ्वी पर आ जाता है। जैसे ही वह पृथ्वी पर आता है उसकी शक्तियां खत्म हो जाती हैं। इन पर राजस्थान के देवता के दूत हमला कर देते हैं। हालांकि होरस सब को मार देता है। लेकिन एक दूत पीछे से उन पर हमला करता है। जिससे वह झरने से नीचे गिर जाता है। ड्यूक भी उसके साथ कूद जाता है। हॉरस अपना हथियार खोल लेता है इस तरह से इन दोनों की जान बच जाती है। झरने से निकलने के बाद हॉरेस कहता है, कि अब वह अपने खूंखार शिकारियों को भेजेगा। होता भी ऐसा ही है। और खुद राजस्थान का देवता प्यार की देवी के पास जाता है। वह आत्माओं की दुनिया में भी जा चुकी है। कभी वह मुर्दों के सलाहकार हुआ करती थी। राजस्थान का देवता चाहता है कि वह उससे मुर्दों की दुनिया में ले जाए। वह मुर्दों की दुनिया को भी जीतना चाहता है। वह पूरी दुनिया पर कब्जा करना चाहता है। प्यार की देवी कहती है कि तुम यह सब करने के लिए मत सोचो जो तुम कभी नहीं कर सकते। जहां पर प्यार की देवी को यह भी पता चलता है कि हॉरेस की आंखें आ चुकी हैं। अब उसे पता है कि राजस्थान का देवता उसे नहीं छोड़ेगा। इससे पहले कि वह प्यार की देवी को पकड़ता, इसके हाथ में एक कड़ा होता है। जैसे ही वह उस कड़े को निकालती है वह मुर्दों की दुनिया में चली जाती है।इससे पहले कि वह मुर्दों की दुनिया में पूरी तरह से जाती है वह अपने हाथ के कड़े को दोबारा से पहन लेती है। और मुर्दों की दुनिया से बाहर निकल जाती है। इस तरह से वह राजस्थान के देवता से बच जाती है। दरअसल उसके हाथ में जब तक यह कड़ा है कोई भी मुर्दा उसका कुछ नहीं बिगाड़ सकता। वहीं दूसरी तरफ हॉर्स और उसका साथी ड्यूक एक मंदिर पहुंच जाते हैं। वह ड्यूक को बताता है, कि कभी यह जगह बहुत सुंदर हुआ करती थी। यह मेरे पिताजी का पहला मंदिर है। लेकिन राजस्थान के देवता ने इस जगह को पूरी तरह से तबाह कर दिया। तभी इन दोनों पर सर्प करने आए हैं जिस राजस्थान के देवता ने मारने के लिए भेजा है हमला कर देती हैं। यह बहुत खतरनाक होती हैं। हॉरस के पास उसकी शक्तियां भी नहीं है। किसी तरह से दोनों सर्प कन्याओं से बचते हैं। अब यहां पर प्यार की देवी भी आ जाती है। तीनों मिलकर दोनों सर्प कन्याओं को मार देते हैं। तीनों वहां से आगे जाते हैं। यह किसी भी तरह से वहां तक पहुंचना चाहते हैं जहां राजस्थान के देवता की आग है। वह जगह एक पिरामिड के अंदर है। लेकिन उसके अंदर जाने का रास्ता आसान नहीं है। लेकिन ड्यूक में नक्शा देखा होता है। वह उन्हें वहां तक ले जा सकता है। लेकिन प्यार की देवी कहती है कि कि अगर तुम वहां तक पहुंच भी गए तब भी तुम उसकी आंख तक नहीं नहीं पहुंच सकते। वहां पर एक सी मानव है जो राजस्थान के देवता की आंख की रक्षा करता है। जो एक पहेली पूछता है। अगर तुमने उसकी पहेली का सही जवाब नहीं दिया तो वह तुम्हें मार देगा। इसके बारे में ड्यू को को कुछ भी नहीं पता होता। ड्यूक हॉररस से पूछता है कि तुम पहेली का जवाब तो दे सकते हो ना। तीनों बुद्धि के देवता के पास जाते हैं। वे किसी भी पहली का जवाब दे सकते हैं। तीनों उनके पास पहुंच जाते हैं। लेकिन वह इनकी मदद करने से मना कर देता है। बुद्धि के देवता थोड़ी देर के बाद सीह मानव के पहेली का जवाब देने के लिए मान जाते हैं। चारों उस तरफ निकल पड़ते हैं जहां राजस्थान के देवता की आंख है। जिसके अंदर रचना का पानी डालने से राजस्थान के देवता की शक्तियां कम हो जाएंगे। प्यार की देवी को जब यह पता चलता है की हॉर्स ने ड्यूक को यह कहा है, कि वह उसकी प्रेमिका की आत्मा को वापस लाएगा और उसे इस दुनिया में जिंदा कर देगा। वह होरेस से कहती है कि तुमने ऐसा क्यों कहा तुम जानते हो क्या ऐसा तुम नहीं कर सकते।



इस बात से प्यार की देवी को बहुत दुख होता है। प्यार की देवी ड्यूक के पास जाती है। वह उसकी प्रेमिका को मुर्दों की दुनिया में दिखाती है। ड्यूक जाया से यहां पर बात भी करता है। ड्यूक उसे यकीन दिलाता है कि मैं तुम्हें वापस लेकर आऊंगा। क्योंकि मैं होरस की मदद कर रहा हूं। चारों उस पिरामिड के सामने पहुंच जाते हैं। यहां पर इन्हें कोई दरवाजा नहीं दिख रहा होता। लेकिन ड्यूक कहता है कि मुझे दरवाजा पता है। हालांकि उसे दरवाजे के बारे में नहीं पता होता। उसे बस इतना पता होता है कि अंदर एक बहुत बड़ा घुमाने वाला है जिससे दरवाजे खुल जाते हैं।फिर भी वह दो पत्थरों के बीच में कूद जाता है। बहुत संघर्ष करने के बाद वह उस विल तक पहुंच जाता है। उसे घुमाने के बाद पिरामिड में जितनी भी हलचल हो रही होती हैं सब शांत हो जाती हैं। तीनों अब अंदर आ जाते हैं। यह सीह मानव के सामने पहुंच जाते हैं। सी मानव से पहेली पूछता है कि मैं नहीं था लेकिन मैं फिर भी रहूंगा, हर जिंदा और सांस लेने वाले को मुझ पर भरोसा है। कौन हूं मैं। बुद्धि के देवता इसका बहुत आसानी से जवाब देते हैं। वे कहते हैं कि तुम अनुशासन हो। लेकिन यह जवाब गलत होता है। सीह मानव इनपर हमला कर देता है। इसके बाद वह एक और जवाब देते हैं कि तुम पवित्रता हो। लेकिन यह जवाब भी गलत होता है। अब सिंह मानव के मजबूत हाथों के नीचे होरेस दब रहा होता है। तभी बुद्धि के देवता कहते हैं कि तुम्हारी पहेली का जवाब है कल। यह जवाब सही होता है। इसलिए वे उन्हें आगे जाने की अनुमति दे देते हैं। यह राजस्थान के देवता कि आंख तक पहुंच जाते हैं। इससे पहले कि यह राजस्थान के देवता के आग में रचना की पानी डालते हैं। यहां पर एक शिकंजा खुलता है और हॉरस उसमें बंद हो जाता है। तभी वहां पर राजस्थान का देवता आता है, और वह बुद्धि के देवता किस सीर से दिमाग को निकाल लेता है। वह कहता है कि मुझे इसकी सख्त जरूरत थी। ड्यूक यहां पर मौका देखकर रचना के पानी को उठा लेता है। वह उस पानी को आग में डालने वाला होता है। तभी राजस्थान के देवता उसे एक ताबीज दिखाते हैं। यह ताबीज उसने उसकी प्रेमिका के शरीर से निकाला था। यानी कि उसकी डेड बॉडी अब राजस्थान के देवता के पास है। इसलिए ड्यूक रुक जाता है। वह ड्यूक को यह भी बताता है कि तुमसे हॉरस ने झूठ बोला है। वह तुम्हारी प्रेमिका को जिंदा नहीं कर सकता। अब ड्यूक को सारी सच्चाई पता चल जाती है। राजस्थान का देवता रचना के पानी को नष्ट कर देता है। यहां पर सब को मरने के लिए छोड़ देता है। अगले ही पल पूरा पिरामिड गिरना शुरू हो जाता है। लेकिन हॉररस दोनों को बचा लेता है। वही राजस्थान के देवता के पास बुद्धि के देवता का दिमाग है। अब वह एक नए अवतार में आता है। वह दिमाग अपने सिर के अंदर फिट करवा देता है। इसके बाद वह अपने पिताजी से मिलने जाता है। उसके पिताजी चाहते हैं कि वह उसकी जगह ले ले। लेकिन राजस्थान का देवता ऐसा नहीं चाहता। इसके बाद राजस्थान के देवता और सूर्य के देवता में लड़ाई शुरू हो जाती है।बुद्धि के देवता का दिमाग उसके पास होने की वजह से वह बहुत चालाक हो गया है। इसलिए उसके पिताजी उससे जीत नहीं पाते हैं। और राजस्थान का देवता उनका शस्त्र उनसे छीन कर उन पर हमला कर देता है। जिससे वह अपने घर से अपनी दुनिया से नीचे गिर जाते हैं। वहीं दूसरी तरफ ड्यूक को सच्चाई का पता चल गया है। यहां पर प्यार की देवी चाहती हैं कि ड्यूक अपनी प्रेमिका से आखरी बार मिले। इसलिए वह यमराज के दूध को बुलाती हैं। वह उसे पूछती है कि क्या ड्यूक मुर्दों की दुनिया में जा सकता है। ताकि वह अपनी प्रेमिका से मिल सके। वह कहता है कि इसके लिए बहुत बड़ी कीमत चुकानी होगी। प्यार की देवी अपना कड़ा दूत को देने लगती हैं। लेकिन हॉरस ऐसा नहीं चाहता क्योंकि वह प्यार की देवी से बहुत प्यार करता है। लेकिन प्यार की देवी अपना कंगन उतार कर दूत को दे देती है।

वह खुद मुर्दों की दुनिया में चली जाती है। वही जाया नवमी द्वार तक पहुंच चुकी है। जहां पर यह फैसला होता है कि कौन सी आत्मा दोबारा जन्म लेगी। और किस को हमेशा के लिए नष्ट कर दिया जाएगा। इससे पहले कि उसकी आत्मा को हमेशा के लिए नष्ट किया जाता वहां पर ड्यूक पहुंच जाता है। वह उसे कंगन दिखाता है जो उसके पास है। पर जाया उस कंगन को लेने से मना कर देती है। वह कहती है कि मैं तुम्हारे बिना कहीं नहीं जाऊंगी हम जहां जाएंगे साथ जाएंगे। इससे पहले कि जाया कि आत्मा को नष्ट किया जाता। आत्मा को नष्ट करने वाला दरवाजा बंद हो जाता है। क्योंकि अंधेरे का शैतान उसने यहां पर हमला कर दिया होता है। यमराज के दूत कहते हैं कि जाओ और हवाओं के देवता होरेस को कहो कि जो करना है जल्दी करें। क्योंकि मैं इसे ज्यादा देर तक नहीं रुक सकता। ड्यूक वापस इंसानों की दुनिया में धरती पर आ जाता है। वह हॉरस को सब कुछ बताता है। वे लोग राजस्थान के देवता के पास पहुंचते हैं। अब राजस्थान के देवता के पास उसके पिताजी का भाला है। तभी वहां पर होरस पहुंच जाता है। दोनों के बीच लड़ाई होना शुरू हो जाती है। लेकिन होरस उसके सामने टिक नहीं पाता। जब वह हॉरस को मारने वाला होता है, और उसकी शक्तियां तभी वापस आएगा जब उसे जिम्मेदारियों का एहसास होगा। इस युद्ध में हॉरस राजस्थान के देवता को मात देता है। जब वह उसे मारने वाला होता है, तो कहता है कि मैंने तुम्हें जीवन दान दिया है। मैंने तुम्हें जिंदा छोड़ दिया था तुम भी मुझे जिंदा छोड़ दो। होरस कहता है कि मैं यह गलती नहीं करूंगा। और वह अपने दादा के भाले से उसे खत्म कर देता है। उसे खत्म करने के बाद वह अपने दादा का भाला लेकर उनके पास जाता है। वह उनसे कहता है कि जो अंधेरे की दुनिया का शैतान है उससे उसकी दुनिया में वापस भेज दीजिए। और उसके दादाजी जो कि सूर्य देवता है बहुत शैतान को उसकी दुनिया में वापस भेज देते हैं।

Subscribe

ड्यूक भी उस दुनिया को छोड़ कर चला जाता है। तभी वहां पर उसके दादाजी प्रकट होते हैं। वह जाया और ड्यूक को पुनः जीवित कर देते हैं। इसके बाद हारस को मिस्र का राजा बना दिया जाता है। हर्ष कहता है कि आज के बाद पुनर्जन्म को पैसों से या सोने से नहीं खरीदा जाएगा। इसे खरीदा जाएगा सच्चाई से ईमानदारी से। अच्छे कर्मों से एक दूसरे की मदद से ताकि दुनिया में सच्चाई रहे अच्छाई रहे। इस तरह सब कुछ ठीक हो जाता है। उसे अब उसकी दूसरी आंख भी मिल चुकी है। अंत में ड्यूक हॉरर स्कोर प्यार की देवी जिससे हर्ष प्यार करता है उसका कंगन देता है जिस कंगन के बिना वह मुर्दों की दुनिया से वापस नहीं आ सकती है। होरेस, ड्यूक से कहता है कि अगर मैं कुछ दिनों के लिए राज्य में नहीं रहा तो तुम संभाल लोगे। वह कहता है कि एक राजा का सलाहकार होने की वजह से मेरा फर्ज है। हॉरस अपना रूप बदलकर मुर्दों की दुनिया में चला जाता है। क्योंकि वह प्यार की देवी को फिर से बचाना चाहता है। इसके साथ यह कहानी यहां पर खत्म हो जाती है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Pin It on Pinterest

Scroll to Top
error: Alert: Content is protected !!